Wednesday, 28 January 2018

Tuesday, November 14

Internet Kaam Kaise Karta Hai ? Internet Ka Malik Kaun Hai





क्या आप जानते है इंटरनेट का मालिक कौन है ,अगर इसका कोई मालिक नही है तो फिर हम Data Pack के पैसे क्यों देते है । तो दोस्तो इन्ही सवालो के जवाब आज में इस पोस्ट में देने वाला हु ।



आप कभी भी बाजार से कुछ भी खरीदते हैं तो आप अपने आस पास की दुकान से वो सामान खरीद लेते हैं और हर चीज़ की एक कीमत तो होती ही है । उदाहरण के तौर पर आपने किसी Branded Company का Phone  खरीदा है तो अब उसकी कीमत आप दुकानदार को तो चुका देते हैं मगर फिर वो कीमत दुकानदार द्वारा उसके मालिक को दे दी जाती है जिसमे हम जानते हैं की ये कंपनी का मालिक ये है या ये है. मगर अब बात आती है इंटरनेट की जैसे हम महीने का या कोई भी इंटरनेट का Pack लेते हैं. अब हम तो Service Provider  को इसकी कीमत चुकाते हैं मगर वो Service Provider पैसे किसे देते हैं? क्यूंकि इंटरनेट का तो कोई मालिक ही नहीं है. तो फिर हम इंटरनेट इस्तेमाल करने के पैसे क्यों देते हैं?

इंटरनेट का मालिक कोई नहीं है





इंटरनेट को कोई भी सरकार द्वारा नियंत्रित नहीं किया जाता है. अगर आसान शब्दो में  कहु तो इसका न कोई एक मालिक है और न तो कोई Organisation या Agencies है जो इस पर अपना मालिकाना हक जता सके । मगर कुछ Companies और Agencies होती हैं जो की इसके तरीके ,नियम  निर्धारित करती हैं और दुसरे Problem पर ध्यान देकर इसे काम करने लायक बनाती हैं।इंटरनेट पर हर तरह की गाइड लाइGuide लाइन Standard या Reqsearch  की जाती है और इसके समूह को वर्ल्ड वाइड कंसोर्टियम कहा जाता है. इसपर कोई भी अकेला या किसी संस्था का मालिकाना हक नहीं होता है.

Internet Kaam Kaise Karta Hai |How Internet Works |इंटरनेट काम कैसे करता है

अब हम जानेंगे कि इंटरनेट काम कैसे करता है क्या आप जानते हो की दुनियभर में लगभग 900 Million से ज़्यादा लोग अलग अलग जगहों पर Internet का इस्तेमाल करते हैं । किसी Postal System की तरह ही इंटरनेट पर भी Data अलग अलग जगह भेजने के लिए Address का इस्तेमाल किया जाता है.

Internet 3 Steps Par Kaam Karta Hai | Internet Works In 3 Steps |इंटरनेट तीन स्तरों पर काम करता है

आप जहाँ से Internet Connection लेते हैं जैसे की Service Provider और यह जो सर्विस प्रोवाइडर हैं इसे  Tier  3 कहा जाता हैं.सबसे पहले स्तर पर यानी Tier 1 होते हैं वो कंपनी जो ढेरों पैसे खर्च करके समुन्द्रों में नीचे Cable डालती हैं जिससे पूरी दुनिया को Internet से जोड़ा जा सके. दुसरे Tier 2 पर  पूरे देशभर  के Providers को जोड़ते हैं और आखिर में आते हैं Tier 3 जो की आपको इंटरनेट की सुविधा कुछ Plans के तहद देते हैं.
अब सवाल उठता है की ये सभी कंपनी का काम तो एक बार होता है तो ये हमे हर महीने Datapack का  पैसे क्यों लेती हैं?




वो पैसा इसलिए लेते है क्योंकि समुद्रों में जो तार बिछा हुवा है वो तार समुद्र में हमेशा वैसे की वैसे नहीं रहती हैं उनमे दिक्कतें आती हैं मरहम्मतें भी होती हैं जिसका खर्चा काफी ज़्यादा होता है.और कभी कभी बड़ी बड़ी मछलिया उन तारो को काट देती है  इसीलिए हम इंटरनेट Pack के नाम पर जो पैसे देते हैं वो असल में इस तारों की Repairing के लिए देते हैं ।

I Hope आप जान गए होंगे की इंटरनेट से कैसे पूरी दुनिया को Connect किया गया है ।अगर आप इसे देखना चाहते हैं की ये Cable दुनियाभर में किस किस समुन्द्र और कहाँ कहाँ बिछाई गयी हैं तो आप Submarine Cable Map की Website  पर इसे देख भी सकते हैं साथ ही ये भी पता लग जायेगा की उस केबल को किस Companyया संस्था ने बिछाया है.

उम्मीद करता हु आपको पता चल गया होगा कि Internet मालिक कौन है  ,और हम क्यों इंटरनेट के लिए पैसे चुकाते है ।
अपना समय निकालकर इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे ।

0 comment:

Post a Comment

Follow by Email

Subscribe Our Newsletter

Connect with us